जब भी हो वोमिटिंग(उल्टी )अपनाए ये आसन तरीके |

वोमिटिंग (उल्टी )-की समस्या हमारे गलत खान -पान के तरीके  अथवा प्रकति के विरुद्ध आहार करने से वमन की समस्या उत्पन्न होती है |जब अधिक मात्रा में भोजन किया जाता है तब भोजन अथवा अन्य खाद्य प्रदार्थ का मुह के माध्यम से निकलने लगता है भोजन का मुंह से निकलने की क्रिया उल्टी कहलाती है |

वोमिटिंग (उल्टी ) आने का कारण –

प्रकति के विरुद्ध आहार अथवा फ़ूड पाइजनिंग के कारण

आमाश्य में किसी प्रकार के जख्म के कारण |

पाचन तंत्र के ख़राब होने के कारण |

पेट में कीड़े पड़ने के कारण |

स्नायु मंडल की बीमारी |

गर्भावस्था के दौरान उल्टी आना |

अधिक समय तक भूके रहने के कारण

वोमिटिंग (उल्टी ) रोकने के घरेलू नुस्खे –

नींबू  –एक नींबू  को दो हिस्से करके एक चुटकी शक्कर एक चुटकी काली मिर्च के पाउडर डालकर चूसने से कुछ ही समय में उल्टी आना बंद हो जाती है |

एक गिलास पानी में एक नींबू को काटकर उसका रस निकालकर एक चम्मच शक्कर और आधा चम्मच काला नमक डालकर शिकंजी बनाकर पीने से वमन अथवा उल्टी आना बंद होते है |

प्याज का रस –एक प्याज लेकर उसका रस निकालकर उसमे 10 -15 ग्राम अदरक को कसकर अच्छे से मिलाए इस मिश्रण का सेवन थोड़ी -थोड़ी देर बाद करने से वमन अथवा उल्टी आना बंद हो जाती है |

काला नमक –,भूना हुआ जीरा ,काली मिर्च और स्वाद अनुसार मिश्री सभी समान मात्रा में लेकर अच्छे से पीसकर चूर्ण बनाए इस चूर्ण से दुगुना शहद मिलाकर चाटने से वमन और उल्टी आना बंद हो जाते है |

पोदीन का रस –वमन अथवा उल्टी की समस्या होने पर 6 मिली ग्राम पोदीने के रस में स्वाद अनुसार सेंधा नमक और पानी मिलाकर पीने से कुछ ही समय में वमन और उल्टी आना बंद हो जाते है |

मौसमी का रस –एक गिलास मौसमी के रस में स्वाद अनुसार सेंधा नमक मिलाकर थोड़ी -थोड़ी देर से पीने से कुछ ही समय में उल्टी आना बंद हो जाती है |

आवंला –वमन अथवा उल्टी की समस्या होने पर आवंला को काटकर उसको छाव में सुखाकर एक चुटकी काला नमक एक नींबू  निचोड़कर अच्छे से मिक्स करके सेवन करने से वमन और उल्टी आना बंद होते है |

इमली का पानी –50 ग्राम इमली को रात को सोते समय पानी में भिगोकर रखे सुबह इमली को अच्छे से मसलकर छानकर उसमे स्वाद अनुसार सेंधा नमक और चीनी मिलाकर पीने से कुछ ही समय में उल्टी आना बंद होगी |अगर उल्टी बार -बार आती है तो इस मिश्रण का सेवन थोड़ी -थोड़ी देर में अवश्य करे |

सौंफ –20 ग्राम सौंफ और 10 ताजे पुदीने के पतों को एक लिटर पानी में डालकर अच्छे से उबालकर छान ले जब पानी ठंडा हो जाये थोड़ी -थोड़ी देर में रोगी को पीलाने से वमन अथवा उल्टी की समस्या जल्द ही दूर होगी |

अम्रतधारा- की 2 बूंदों को बताशे में डालकर ,एक गिलास पानी के साथ सेवन करने से वमन अथवा  उल्टी आना बंद होते है |

Check Also

जाने क्यों नहीं होती खाना खाने की इच्छा ?

अरुचि(Anorexia) –आज की व्यस्त जीवन शैली में बहुत से स्त्री और पुरुष समय पर भोजन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *