इस एक वजह से गर्भधारण करने में आती है समस्या जानिए क्या है ये

PCOS\PCOD-पॉली सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम \पॉली सिस्टिक ओवरी डिस ऑर्डर ये महिलाओं में फैलने वाली एक सामान्य समस्या है   इसमें महिलाओं के शरीर में मेल (एण्ड्रोजन)हार्मोंस की मात्रा बढ़ जाती है | जिसके कारण महिलाओं में प्रजनन क्षमता कम होने के साथ मासिक धर्म का चक्र भी बिगड़ने लगता है |हार्मोंस केअसंतुलित होने की वजह से अंडाशय में गांठे बनने लगती है |महिलाओं के गर्भाशय में बहुत से छोटे -छोटे अंड्डे होते है जो अल्ट्रासाउंड से दिखाई देते है हार्मोंस के असंतुलन के कारण अंड्डे समय पर विकसित नहीं हो पाने के कारण महिलाओ को गर्भधारण करने में समस्या उत्पन होती है | ये बीमारी कम उम्र की लडकियों अथवा महिलाओं में पाई जाती है PCOS\PCOD के कारण  महिलाओं में थाइराइड रोग उत्पन होने लगता है |मधुमेह के कारण रक्त में शर्करा की मात्रा बढ़ जाने के  कारण PCOS\PCOD रोग के फैलने की आशंका बढ़ जाती है मधुमेह का नियंत्रण करके इस रोग को दूर किया जा सकता है |PCOD का समय पर इलाज करवाना जरुरी है नहीं तो फर्टिलिटी की  समस्या उत्पन हो सकती है जो धीरे -धीरे कैंसर का रूप ले सकती है |

PCOSया PCOD ये दोनों एक ही रोग है जो एण्ड्रोजन हार्मोंस(Sex hormones) के असंतुलन के कारण उत्पन होते है इस हार्मोंस में अंडाशय में गांठे बनने लगती है और इसके  साथ अंडाशय में  कास्ट तैयार हो जाती है जो महिलाओं में  मासिक धर्म और प्रजनन क्षमता(Fertility)पर असर डालती है |

PCOS\PCOD रोग का कारण –

एण्ड्रोजन हार्मोंस के असंतुलन के कारण

थाइराइड रोग, मधुमेह रोग के कारण |

असंतुलित आहार के कारण |

धूम्रपान और शराब एव  नशीले पदार्थो के कारण

मोटापे अथवा तनाव के कारण|

आनुवांशिक कारणों से |

PCOS\PCOD के लक्षण-

मासिक धर्म का अनियमित होना,साल में 3 -4 बार मासिक धर्म का आना  |

चेहरे और शरीर पर बालों का उगना |

चेहरे पर किल मुहासे का आना,सिर से बालों का झड़ना | |

वजन का बढ़ना अथवा मोटापे  का बढ़ना |

बार -बार गर्भपात होना ,गर्भ धारण में परेशानी |

यौन इच्छा में कमी ,गर्भ में छोटी छोटी गांठो का बनना ,

डिप्रेशन अथवा एंग्जायटी

PCOS\PCOD रोग का घरेलु और आयुर्वेदिक उपचार –

आरोग्यवर्धिनी,दशमुलारिष्ट,कंचनारगुग्गुल,चन्द्रप्रभावटी-इन सभी आयुर्वेदिक औषधियों का सेवन करके शरीर में एण्ड्रोजन हार्मोंस के लेवल को कम किया जा सकता है |ये औषधियाअंत:स्त्रावी तंत्र को संतुलित करके अंडाशय की कार्यशीलता को बढ़ाती है |इन औषधियों के सेवन से PCOS\PCOD  की समस्या को दूर किया जा सकता है |

मेथी -PCOS\PCOD की समस्या  को दूर करने के लिए मेथी के बीजो को रात भर पानी में  भिगोकर रखे सुबह इसके दानों को छानकर खाली पेट इनके बीजों का सेवन करे | नित्य दिन में तीन बार इसके पानी का सेवन करने से इस समस्या को दूर किया जा सकता है रात को मेथी के पानी का सेवन खाना खाने से 5 मिनट पहले अवश्य करे| मेथी हमारे शरीर में कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम करने के ,साथ ही हार्मोंस को संतुलित करके शरीर के वजन को कम करती हैं |

PCOSकी समस्या में तीन चम्मच मेथी दाना को रातभर पानी में भिगोकर सुबह अच्छे से छानकर निकाल ले एक चम्मच मेथी में शहद मिलाकर खाने से PCOS\PCOD की समस्या  को दूर किया जा सकता है इसी तरह रात को खाना खाने से 5 मिनट पहले एक चम्मच मेथी दाना भिगा हुआ और शहद मिलाकर सेवन करने से भी ये समस्या को जल्दी दूर किया जाता है |

अलसी -में प्रचुर मात्रा में ओमेगा3,ओमेगा6 ,फाइबर होता है जो  हमारे शरीर में  एण्ड्रोजन  के स्तर को कम करती है  साथ ही बल्ड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल के लेवल को नियंत्रित करती है |एक से दो चम्मच अलसी के बीजों को पीसकर एक गिलास पानी के साथ नित्य सेवन करने से PCOS के लक्षणों को नियंत्रित किया जा सकता है |

करेला -करेला शरीर में ब्लड शूगर के लेवल को कम करता है और मधुमेह के रोग को दूर करता है |इस समस्या को दूर करने के लिए नित्य एक गिलास करेले के जूस का सेवन करे और करेले की सब्जि का उपयोग अपने भोजन में अवश्य करने से मात्र 20 दिनों में इस समस्या  को दूर कर सकते है |

निर्गुणठी का सेवन -PCOS की समस्या में आप निर्गुणठी की चाय बनाकर नित्य  सेवन करे इसके सेवन से शरीर में  हार्मोंस को नियंत्रित किया जा सकता है |PCOS की समस्या को दूर करने का  यह बेहतर उपाय है |

दालचीनी -अनियमित पीरियड की समस्या को दूर करने का रामबाण इलाज है  एक चम्मच दालचीनी के पाउडर को एक गिलास गर्म जल के साथ मिलाकर खाली पेट सेवन करे या ओट मील ,दही ,चाय में भी दालचीनी के पाउडर को डालकर इस का सेवन नित्य करने से  रिजल्ट अच्छा आता है |आप चाहे तो दालचीनी की लकड़ी को चबाकर भी सेवन कर सकते है |दालचीनी इंसुलिन की मात्रा को नियंत्रित करती है साथ ही शरीर के वजन को भी कम करती है |

पतागोबी -PCOS की समस्या को दूर करने के लिए अपने खाने में पतागोबी (ब्रोक्कोली ) की सब्जियों का सेवन करे और  नित्य एक कप पता गोबी के जूस का सेवन करने से PCOS की समस्या को दूर किया जा सकता है |पता गोबी में प्रचुर मात्रा में विटामिन होता है|जो हार्मोंस को   नियंत्रित करता है पतागोबी PCOS की समस्या को दूर करने का रामबाण इलाज है |

संतुलित आहार -अपने सवेरे के नाश्ते में नित्य अंकुरित अनाज का उपयोग करे इसके साथ अपने भोजन में हरी पतेदार सब्जियों का सेवन करने से इस समस्या को पूरी तरह दूर किया जा सकता है |इनमे प्रचुर मात्रा में विटामिन और मिनरल्स पाए जाते है जो एण्ड्रोजन हार्मोंस  को नियंत्रित करते  है |

योग -PCOS की समस्या को दूर करने के लिए स्वर्गासन ,मत्त्स्यासन ,सूर्य नमस्कार .उष्ठासन  इन सभी  आसनों को नित्य करने से इस समस्या को पूरी तरह खत्म किया जा सकता है |

PCOS की समस्या का निदान करने के लिए निम्नलिखित परिक्षण किए जाते है |

  • अल्ट्रा साउंड स्कैन ऑफ़ पेल्विस ,वगिना
  • सीरम LH
  • सीरम FSH
  • LH;FSH रेश्यो
  • DHEA-S लेवल

Check Also

श्वेत प्रदर (ल्यूकोरिया) के कारण लक्षण और घरेलु उपचार

श्वेत प्रदर(ल्यूकोरिया) -ये महिलाओ के गुप्त अंगो में होने वाला रोग है ये रोग फंगल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *